किडनी क्या है । कैसे काम करता हैं जाने हिंदी में ।

Table of contents 

किडनी क्या हैं  ?

किडनी की बनावट या संरचना  ?

किडनी का कार्य  ?

किडनी के बारे में फैक्ट्स ?

किडनी मानव शरीर का एक अंग है । मानव में एक जोड़ी किडनी पाया जाता है । सबसे पहले जानते है । की किडनी (kidney) आखिर है क्या । 

किडनी मानव उत्सर्जन तंत्र का एक अंग है । जिसे हिंदी में वृक या गुर्दा कहते है । किडनी (kidney) मानव शरीर में बहुत अहम भूमिका निभाती है । यह हमारे शरीर में बनने वाले अपशिष्ट और विषैला पदार्थ जैसे – अमोनिया , यूरिया को हमारे शरीर से बाहर निकलता है । जो बेहद जरूरी है । 

 

क्या है ये वेस्ट मैटेरियल (west material) या अपशिष्ट पदार्थ। और हमारे शरीर में कैसे पहुंचते है ।

जब हम भोजन लेते है । तो उसमें कुछ ऐसा पदार्थ होता है जो हमारे शरीर को जरूरत नहीं होता और वो शरीर के लिए नुकसानदायक होता तो उसे शरीर से बाहर निकालना जरूरी होता है । ये अपशिष्ट पदार्थ हमारे शरीर में बायोकेमिकल रिएक्शन से भी बनता है।  तो इन अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने के लिए हमारा वृक या किडनी (kidney) कार्य करता है। तभी हमारा शरीर स्वस्थ रह पाता है । 

किडनी के संरचना क्या है 

(Structure of kidney)

मानव शरीर में दो किडनी पाया जाता है।  जो सेम के बीज के आकार का होता है । दोनो किडनी के उपर एक ग्रंथि लगी होती है।  जिसे अधिवृक्क (adrinal gland) कहते हैं। 
दाहिना किडनी , लीवर  के दबाव के कारण थोड़ा नीचे झुका होता है । किडनी से दो नसे निकलती है जिसे मूत्रवाहिनी (ureter) कहते हैं । इन्ही नसो द्वारा यूरिन मूत्राशय (bladder) में जमा रहता है । 

किडनी का क्या काम है ।

(What is kidney function ) 

किडनी मुख्य उत्सर्जी अंग है । यानी ये शरीर से अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालता हैं। इसलिए इसे मुख्य उत्सर्जी अंग कहा जाता है । 
यह रक्त को छानता है । और यह पेशाब का निर्माण करता है । और शरीर में एसिड( acid )और बेस (base) की मात्रा को नियंत्रित करता है । 
किडनी की इकाई को नेफ्रॉन कहते है । जिसकी संख्या लगभग 8 लाख होती है । 

नेफ्रॉन क्या है जाने डिटेल में । 

ग्लोमेरुलस  –  ग्लोमेरुलस निस्पंदन करता है । यह रक्त में जितने भी कण होता है उन्हे रख लेता है और शुद्ध रक्त को वापस भेज देता है ।   
बोमेन – बोमन कैप्सूल ग्लोमेरुलस द्वारा भेजे गए रक्त में से आवश्यक पदार्थ को  पुनः अवशोषण कर रक्त में वापस भेज देता है । और यूरिया को डायलिसिस विधि द्वारा निकाल लेता है और नेफ्रॉन में भेज देता है ।  
नेफ्रॉन – नेफ्रॉन उस यूरिया को पेशाब द्वारा बाहर निकाल देता है । 

Leave a Comment